संदेश

मई 19, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

दो हजार टन कूड़ा छोड़ गए भक्त

चित्र
प्रयागराज में महामारी फैले इसके पहले हटा लें कूड़ा- एनजीटी  आधुनिक भारत में अब तक का सबसे बड़ा मानवीय जुटान जो स्वच्छ और साफ सुथरा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रयागराज अर्धकुंभ के बाद स्वच्छता कर्मियों का स्वागत करते हुए कहा था। प्रधानमंत्री के इस दावे में कितनी सच्चाई है, यह शहर से महज दस किलोमीटर दूर बंसवार में खड़ा कूड़े का पहाड़ बताता है। 22 अप्रैल को नेशनल ग्रीन ट्रीव्यूनल ने कहा कि कुंभ का कूड़ा यदि समय रहते निस्तारित नहीं किया गया तो प्रयागराज के कई गांव और इलाके महामारी की चपेट में आ जाएंगे। यह दावा तब किया गया जब एनजीटी के ही आदेश पर एक सेवानिवृत न्यायाधीश के माध्यम से अर्धकुंभ में श्रद्घालुओं के छोड़े गए कूड़े की पड़ताल की गई तो चौकाने वाली रिर्पोट सामने आई। जनवरी 4 से शुरु होकर 14 मार्च तक चले दुनियां के सबसे बड़े आयोजन में कुल 2 हजार टन कूड़ा इकटठा हुआ जो कि बांसवारा कूड़ा निस्तारण संयत्र पहुंचा दिया गया। इस पूरे आयोजन पर प्रदेश और केंद्र सरकार की ओर से 4200 करोड़ रुपए व्यय किया गया। मजे की बात यह कि जिस बांसवारा गांव के ट्रीटमेंट प्लांट पर यह कूड़ा पहुंच