संदेश

जून 23, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मैकेनिकल कूलिंग सिस्टम और खराब कर रहा है पर्यावरण

चित्र
गर्मी और उमस में बढ़ रही है 30 से 50 फीसद बिजली की मांग  सेंटर फॉर साईंस इंवायरमेंट ने मांग किया थर्मल बिल्डिंग नियम बनाएं सरकार   प्रचंड गर्मी से बचने के लिए एनसीआर सहित गुडग़ांव में एयर कंडिशनर मशीनों की मांग में तेजी आई है, तो वहीं बिजली की खपत जून माह में ही 30 से 50 फीसदी तक बढ़ गई है। सामान्य दिनों के अनुपात में डेढ़ से दो गुना तक बढ़ी बिजली खपत, और वातानुकूलित मशीनों के प्रयोग से निकलने वाली गर्म हवाएं पर्यावरण को और भी बदतर कर रही है। सेंटर फॉर साईंस एंड इंवायरमेंट ने इसे लेकर सरकार से मांग किया है कि बिल्डिंग कोड के नियमों में परिवर्तन करके मैकेनिकल कूलिंग सिस्टम की जगह थर्मल कूलिंग का प्रावधान किया जाए। जून माह में जिस तरह बिजली की मांग में तेजी आई है यदि इसके मूल कारणों को नहीं बदला गया तो आने वाले समय में पर्यावरण से लेकर भारी आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ सकता है। केंद्र सरकार की ओर से गठित की गई नेशनल कूलिंग एक्शन प्लान में मांग की गई है कि थर्मल कम्फर्ट स्टैंडर्ड को सभी भवन निर्माणों में लागू किया जाए यहां तक कि इसे किफायती श्रेणी के आवासों सहित प्रधानमंत्री आव